जाने दालचीनी के 10 फायदे – Know Benifits of cinnamon in hindi

0
1816
Dalchini ke fayde, Benifites of Dalchini in hindi

सन्तानहीनता, बाँझपन (Infertility)-

वह पुरुष जो बच्चा पैदा करने में असमर्थ है, यदि नित्य सोते समय दो बडे चम्मच शहद ले, तो वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर एक चम्मच शहद में मिलाकर अपने मसूडों पर दिन में कईं बार लगायें ।

थूकें नहीं, इससे यह लार में मिलकर शरीर में चला जायेगा। अमेरिका के मेरीलैण्ड में एक दम्पत्ति को 14 वर्ष से सन्तान नहीं हुई थी, महिला ने इस विधि से मसूढो पर दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी।

Hot, dance, कॉमेडी एवं हंसी मजाक वाली video देखने के लिए chingari app डाउनलोड करके profile बनायें और अपनी short video बना कर पैसे कमायें

जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon), शहद लगाया, वह कुछ ही महीनों में गर्भवती हो गई और उसने पूर्ण विकसित जुडवाँ बच्चों को जन्म दिया।

चीन, जापान और सुदूर पूर्वी देश जहॉ स्त्रीयाँ गर्भधारण नहीं करती, अपने गर्भाशय को सशक्त करने के लिए दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) सदियों से लेती रही हैं।

गर्भस्राव (Infertility) – Benifits of cinnamon

अशक्त गर्भाशय के कारण बार-बार गर्भस्राव होता रहता है । गर्भधारण से कुछ महीने पहले दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) और शहद समान मात्रा में मिलाकर एक चम्मच नित्य प्रात: लेने से गर्भाशय सशक्त हो जायेगा और गर्भाशय की कमजोरी से होने वाले गर्भस्राव से बचाव हो सकेगा ।

पेट के रोग (Stomach Disease )Benifits of cinnamon

यदि शहद और दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) समान मात्रा में मिलाकर नित्य एक चम्मच सेवन किया जाये तो पेट दर्द, गैस, पेट के घाव पूर्णत: ठीक हो जाते हैँ ।

अपच (Indigestion)Benifits of cinnamon

भोजन से पहले एक चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर और दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर लेने से अम्लपित्त, अपच दूदु हो जाती है तथा गरिष्ठ भोजन भी पच जाता हैं।

साँस में बदबू (Bad breath )

साँसों में आने वाली बदबू के लिए वाष्पीकृत सल्फर यौगिक उत्तरदायी होते हैँ, जैसे…हाइड्रोजन सल्फाइड, मिथाइल, मरकेप्टन आदि । इन यौगिकों के स्रोत में ऐसे बैक्टीरिया होते हैं, जो आँक्सीजन के बिना भी जीवित रह सक्से हैं । ये बैक्टीरिया मुख की भीतरी दीवार की कोशिकाओं, जीभ, मसूडों और दाँतों की संधि के बीच रहते हैँ ।

ये स्थान इनके लिए उपयुक्त रहते हैं, क्योंकि अँधेरे और शुष्क स्थान पर ही ये पलते -बढ़ते हैं । इसके अतिरिक्त सिगरेट, शराब इत्यादि नशीले पदार्थों का सेवन और कुछ भोज्य और पेय पदार्थों के कारण भी साँसों से बदबू आती है ।

खाने में दुग्ध उत्पाद, मसालेदार खाना, शक्कर युक्त पदार्थ, कॉफी इत्यादि इन बैक्टीरिया की संख्या में वृद्धि करते हैं, जो सल्फर यौगिक पैदा करते हैं।

Read also —

मसूड़ों में होने वाला संक्रमण और रोग भी साँसों में बदबू पैदा करते हैं । दाँतों में फँसे अन्न के कणों के सड़ने की वजह से यहाँ बैक्टीरिया पनपते है और फिर यह बैक्टीरिया सल्फर युक्त यौगिक बनाते रहते हैं, जो सांसो में बदबू का कारण बन जाता है ।

प्रात: दो कप पानी में एक चम्मच शहद, आधा चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर मिलाकर गरारे करें। दिन भर साँस में बदबू नहीं आयेगी और ताजगी अनुभव होगी ।

मुँह से बदबू (Bad smell)Benifits of cinnamon

दालचीनी का टुकड़ा चबाकर चूसने से मुँह की बदबूदूर हो जाती है और दांत मजबूत होते हैं ।

धूम्रपान (Smoking)

एक चम्मच शहद में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर एक चौडे मुंह की छोटी शीशी में रख लें । जब भी बीडी, सिगरेट, जर्दा खाने की इच्छा हो, तो इसमें उंगली डुबोकर चूसे । धुम्रपान छूट जायेगा। मन में निश्चय कर लें कि धूम्रपान छोडना है तो इस सकारात्मक सोच से भी धूम्रपान छूट जाता है ।

कोलेस्ट्रॉल- Benifits of cinnamon

दो बडी चम्मच शहद, तीन चाय चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर और 16 औस चाय का उबला पानी घोलकर पिये । इसे पीने के दो घंटे बाद ही रक्त में 10 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल कम हो जायेगा। यदि तीन बार नित्य पियेँ तो कोलेस्ट्रॉल का कोई भी पुराना रोगी हो, ठीक हो जायेगा।
नित्य शुद्ध शहद का सेवन करने से भी कोलेस्ट्रॉल ठीक हो जाता है ।

रचत्तसंचार (Blood circulation)Benifits of cinnamon

शरीर तक भोजन और आँक्सीजन पहुंचाने और अनुपयोगी पदार्थ हटाने का काम ह्रदय से रक्त ले जाने वाली और हृदय तक दूषित रक्त लाने वाली नलिकाएँ करती हैं । अगर ये नलिकाएँ न हों, तो व्यक्ति बीमार हो जाये और उसके ज़िंदा रहने की संभावना भी काफी कम हो जाये । ये नलिकाएँ ही धमनियाँ और शिराएँ हैँ, जिनके बिना न तो शरीर को शुद्ध आँक्सीजन युक्त रक्त मिल सकता है और न ही गन्दा रवत्त फिर शुद्ध होने के लिए हदय तक पहुंच सकता है । धमनी एक बडी नलिका होती है, जो शुद्ध चमकीले लाल रक्त को हदय से शरीर के अन्य अंगों की तरफ ले जाती है । धमनी से ही धमनिकाएँ और कोशिकाएं फूटती हैं । ये रक्त के जरिये शरीर के सभी कोनों तक ग्लूकोज और आँक्सीजन पहुंचाती है । शरीर भर में एकत्रित हुए गन्दे हल्के बैंगनी रक्त को फिर से हृदय तक पहुंचाने का काम शिराएँ करती हैं ।

हदय रोग (Heart disease)- Benifits of cinnamon

शहद और दालचीनी पाउडर समान मात्रा में मिला लें । इसकी एक चम्मच नाश्ते में ब्रेड या रोटी से लगाकर नित्य खायें । इससे धमनियों का कोलेस्ट्रॉल कम हो जाता है । जिनको एक बार हार्टअटैक आ चुका है उनको दुबारा हार्ट अटैक नहीं आता।
उपरोक्तानुसार शहद और दालचीनी सेवन करते रहने से दम भरना में आराम मिलता है और हदय की धड़कन को शक्ति मिलती है । अमेरिका और कनाडा में अनेक नर्सिंग होम्स के रोगियों को शहद और दालचीनी सेवन कराया गया तो पाया कि धमनियाँ और शिराएँ, जिनका लचीलापन नष्ट हो गया था तथा जो आयु बढ़ने के कारण अवरुद्ध हो गई थीं, वे ठीक हो गई ।

हदय-शक्तिवर्धक (Cardiovascular)

एक चम्मच शहद में आधा चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) मिलाकर नित्य एक बार चाटने से हदय को ताकत मिलती है ।

दीर्घ आयु (Longevity)Benifits of cinnamon

एक चम्मच दालचीनी पाउडर तीन कप पानी में उबालें। उबलने के बाद हल्का सा गर्म रहने पर इसमें चार चम्मच शहद मिलाये । एक दिन में इसे चार बार पियें । इससे त्वचा कोमल व ताजा रहेगी और बुढापा दूर रहेगा।
वरिष्ठ नागरिक, जो दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी।

जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) और शहद का समान मात्रा में सेवन करते हैं, उनका शरीर अधिक फुर्तीला और लचकदार रहता है । – Benifits of cinnamon

डॉ. मिल्टन जिन्होंने शोध किया है, कहते हैं कि आधी बडी चम्मच शहद एक गिलास पानी में घोलकर, इस पर आधा चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर बुरकाकर प्रतिदिन दो बार प्रात: मंजन करने के बाद और दोपहर करीब 3 बजे पीने से एक सप्ताह में शरीर में स्कूर्ति आ जाती है ।

कैंसर (Cancer)

जापान व आँरट्रेलिया में हाल ही में हुए शोघ से पता चला है कि जब रोगियों को एक बडे चम्मच शहद में एक चाय चम्मच दालचीनी पाउडर  मिलाकर एक महीने तक प्रतिदिन तीन बार दिया गया तो पेट और हड्डियों का विकसित कैंसर सफलतापूर्वक ठीक हो गया ।
दो चम्मच शहद में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर नित्य तीन बार चाटने से हर प्रकार के कैंसर में लाभ होता है। ष्ट

मोटापा घटाना (Weight loss)-

एक कप पानी में आधा चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर मिलाकर उबालें । इसमें एक चम्मच शहद डालकर नित्य प्रात: भूखे पेट नाश्ते से पहले तथा रात को सोने से पहले पियेँ । इससे वजन कम होगा तथा मोटापा नहीं बढेगा।

श्रवणशक्ति हास (Hearing loss)-

शहद और दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर समान मात्रा में मिलाकर एक-एक चम्मच सुबह और रात को नित्य लेने से श्रवणशक्ति पुन. आ जाती है ।

मुँहासे (Pimple)-

(1) 3 बडी चम्मच शहद में एक चाय चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर थोड़ा-सा नित्य रात को सोने से पहले चेहरे पर लगायें । दूसरे दिन प्रातः गर्म पानी से धोयेँ । दो सप्ताह नित्य इस प्रकार लगाने से मुंहासे जड़ से ठीक हो जायेंगे ।

(2) चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर में कुछ बूंदें नीबू के रस की डालकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगायें । एक घंटे बाद धोयें । मुँहासे ठीक हो जायेंगे ।

मुख पर दाग- दूध की मलाई में चुटकी भर दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर मिलाकर चेहरे पर मलें । चेहरे के दाग-धब्बे दूर हो जायेंगे ।

त्वचा संक्रमण (Skin infection)- दाद, रिंगबर्म और समस्त त्वचा-संक्रमण रोगों को ठीक करने के लिए समान मात्रा में शहद और दालचीनी पाउडर मिलाकर नित्य लगायें।

हदय रोग और मधुमेह (Cardiovascular disease and diabetes)

दालचीनी के सप्लीमेंट्स टोटल कैलेस्ट्रोल, हानिकारक कैलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड्स के लेवल को 13 से 30 प्रतिशत कम करने की क्षमता रखते हैँ।

दालचीनी में पालीकेनाल नामक एक ऐसा तत्व पाया जाता है जो इन्मुलिन कीं तरह ही रक्त में मौजूद शुगर को पचाने का कार्यं करता है । दालचीनी शरीर में इन्मुलिन रेसिस्टेंट के खतरे को भी कम करती है जो टाइप-2 डायबिटीज और हृदय रोग का जिम्मेदार है ।

दालचीनी ब्लड शुगर को 20 से 30 प्रतिशत तक कम कर नसों और धमनियों को इस रोग से होने वाले नुकसान से बचाती है । यह साँस की बदबू भी दूर करती है । शोधकर्ताओं क्रो ऐसा कोई प्रमाण नहीँ मिला कि दालचीनी कोई हानि भी करती है । उन्होंने नित्य आधा चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) लेने कीं सलाह दी है ।

न्यूयाकै वेल्टसविल्ले ह्यूमन न्यूट्रीसन रिसर्च सेंटर, मेरीलैण्ड के डॉ. रिचार्ड ए एण्डरसन के नये शोध के अनुसार 1 ग्राम दालचीनी (चाय की चौथाई चम्मच से कम मात्रा) प्रतिदिन प्रात: लगातार 40 दिन तक लेते रहने से मधुमेह, कैलेस्ट्राल और रक्त की वसा तथा लम्बे समय से उच्च स्तर से बढी हुई रक्त शर्करा कम हो जाती है ।

टाइप 2 डायबिटीज से होने वाले रोग- थकान, नेत्रज्योति का धुंधलापन, ह्रदय, किडनी फ्लयोर के खतरों से बचाव होता है ।
सेवन विधि- एक कप पानी में दालचीनी पाउडर उबालकर, छानकर प्रात: पियेँ । इसे कॉफी, खाद्य पदार्थों में मिलाकर भी ले सकते हैँ । इसे सेवन करने के बाद हर दसवें दिन मधुमेह की जांच करवाकर इसके लाभ को देखें ।

सावधानी- दालचीनी बताईं गईं अल्प मात्रा में लें, अधिक मात्रा में लेने से हानि हो सकती है ।

शहद (Honey)

मधुमेह कीं दृष्टि से शहद का सेवन प्राय: लोग निषेध मानते हैं । मधुमेहग्रस्त लोग यहाँ बतायी गयी मात्रा में दालचीनी के साथ शहद सेवन कोंगे तो इससे मधुमेह में हानि नहीं होगी । अनेक लेखकों ने भी मधुमेहग्रस्त रोगियों को मीठा खाने की इच्छा होने पर शहद का सेवन करने को कहा है । ध्यान रखें, शहद गुनगुने पानी में ही मिलाना है ।
दालचीनी के उपयोगों को जानकर लोग इनका नियमित सेवन करें और अपने अनुभव हमारे पास कमेंट भेजें 1

खांसी (cough)

(1 ) चौथाई चम्मच दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) पाउडर एक कप पानी में उबालकर तीन बार कुछ दिन पीते रहने से खाँसी ठीक हो जाती है तथा कफ बनना बन्द हो जाता है ।

(2) दालचीनी 20 ग्राम, मिश्री 320 ग्राम, पीपल 80 ग्राम, इलायची छोटी 40 ग्राम, बंशलोचन 160 ग्राम-इन सबको बहुत बारीक पीसकर, मिलाकर, मैदा की छलनी से छान लें ।

इसके 1 चम्मच मिश्रण को आधा चम्मच शहद में मिलाकर सुबह-शाम चाटे । जो लोग शहद नहीं लेते हैँ, वे गर्म पानी से फंकी लें । यह मिश्रण घर में रखे, जब कभी किसी को खाँसी हो, लें । मात्रा इसी अनुपात में घटा, बढा सकते हैं ।

(3) 50 ग्राम दालचीनी पाउडर, 25 ग्राम पिसी सोंठ, 25 ग्राम पिसी मुलहठी, 50 ग्राम मुनक्का, 15 ग्राम बादाम की गिरी, 50 ग्राम शक्कर लेकर, सबको कूट पीसकर, पानी डालकर, घोंटकर, मटर के दाने के बराबर गोलियाँ बना लें । जब भी खाँसी चले , एक गोली चूसे अन्यथा हर तीन घंटे बाद एक गोली चूसे । इससे खाँसी नहीं चलेगी तथा मुंह का स्वाद अच्छा रहेगा।

(4) दालचीनी का टुकडा चूसते रहने से खाँसी में लाभ होता है तथा गला बैठ गया हो तो आवाज साफ हो जाती है ।

(5) कायफल के चूर्ण को दालचीनी वीर्य-वृद्धि होगी और उसकी यह समस्या दूर हो जायेगी। जिस स्त्री के गर्भाधान ही नहीं होता, वह चुटकी भर दालचीनी (cinnamon) के साथ खाने से पुरानी खाँसी और बच्चों की काली खाँसी दूर हो जाती है।

दमा (Asthma)

सामग्री- दालचीनी का छोटा-सा टुकडा, चौथाई अंजीर या तुलसी के 5 पत्ते, नौसादर (खाने वाला) ज्वार के दाने के बराबर, एक बडी इलायची (डोडा इलायची), काली दाख 4 (काले मुनवका), थोडी-सी मिश्री स्वादानुसारा इन सबको पीस लें ।

विथि- एक कप पानी में सारी चीजें मिलाकर उबाल लें । पानी आधा रहने पर छान का नित्य दो बार- सुबह व रात को पिये । पीने के एक घंटा बाद तक कुछ नहीँ खायें-पियें, पानी तक नहीँ पिंयें । इसके सेवन करते रहने से लाभ होता है । जब कभी दमे का दौरा हो, यह सेवन करें ।

नमस्कार।

Channel Link – https://www.youtube.com/channel/UC0NizkNl5F528dnyY_bwXeg


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here